Followers

Tuesday, November 12, 2013

Naa men bhi pyar hota hai " ना " में भी प्यार होता है...



जानती हूँ तुम मुझे मना नहीं करते किसी भी चीज के लिए,, पर कभी - कभी तुम्हारी ना सुनने को जी चाहता है....
इसलिए जानबूझकर कुछ ऐसी बात कर ही देती हूँ की तुम चाहकर भी हाँ ना बोल पाओ .....
और मैं तुम्हारी ना सुन पाऊँ...
अरे || ना में भी तो प्यार होता है
फिक्र होती है ,,, ख्याल होता है...
और यही तो प्यार होता है.....
उसदिन तुमसे पूछ लिया था,,,अपने दोस्त की शादी में चली जाऊँ दो दिन के लिए..( तेज बुखार होने पर भी)

और तुम्हारा जवाब झट्ट से " ना " ....
उस वक्त कितना मजा आया था बता नहीं सकती....
बस ऐसे ही मजे लेने को मन कर जाता है कभी-कभी... और पूछ बैठती हूँ तुमसे उलफ़िज़ूल सवाल..
और सुन लेती हूँ तुमसे मीठी सी "ना"
आह||
मीठी सी नोंक- झोंक के बाद कुछ मीठा हो जाये..

:-)


22 comments:

  1. आह||
    मीठी सी नोंक- झोंक के बाद कुछ मीठा हो जाये..
    ............बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी .बेह्तरीन अभिव्यक्ति रीना जी

    ReplyDelete
  2. pyar bhari rachna..............sahi kaha na me bhi pyar hota hai

    ReplyDelete
  3. bahut sundar .........pyar hota hi hai aisa.......

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज बुधवार को (13-11-2013) चर्चा मंच 1428 : केवल क्रीडा के लिए, मत करिए आखेट "मयंक का कोना" पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  5. कभी हाँ..कभी न......यही प्यार है :-)
    सुन्दर भाव...
    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर व प्रफुल्लित करती हुईं आपकी रचना , श्री रीना जी , धन्यवाद
    नया प्रकाशन --: जानिये क्या है "बमिताल"?

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी

    ReplyDelete
  8. प्यार भरा कोमल एहसास ... ऐसे ही जीवन चलता रहे तो बात ही क्या ...
    भाव भरी बातें ...

    ReplyDelete
  9. वाह ! बहुत सुंदर ..

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर अभिलाषा की अभिवक्ति ! सुन्दर !
    नई पोस्ट काम अधुरा है

    ReplyDelete
  11. इस पोस्ट की चर्चा, बृहस्पतिवार, दिनांक :- 14/11/2013 को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}" चर्चा अंक - 43 पर.
    आप भी पधारें, सादर ....

    ReplyDelete
  12. हाँ...ना...हाँ ..में ही तो बसा हुआ है एक अनूठा प्यार

    ReplyDelete
  13. आह!! ..इस मीठी सी नीक झोंक के बाद कुछ मीठा हो जाये :-) बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  14. बस जीवन इस भाव सा मीठा - मीठा रहे ....सस्नेह !

    ReplyDelete
  15. इन्ही छोटी छोटी बातों में जीवन का सारा रस है। सच तो यह है कि न वाले प्यार में ज्यादा गहराई होती हैं।

    ReplyDelete
  16. Sahi kaha apne ki
    Na me bhi pyar hota he
    Ankho ankho me ejhar hota he
    Bina kahe jina duswara hota
    Kyonki jo sach ho wahi pyar hota he
    Bahut sundar prastuti

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...