Followers

Monday, October 7, 2013

Meri Maa मेरी माँ ....



ममतामई ....
शीतल छाँव है माँ
मेरी प्यारी माँ .....

जीवनदायी .....
पूर्णता का आभास
सुख सागर .....

थामे हाँथ माँ .....
जीवन की डोर माँ
करुणामयी .....

मिलता चैन  ....
आँचल तले माँ के
ढ़ेरों आशीष ......

दे ज्ञान मुझे .....
फूलों सा महकाती
सूर्य बनाती .....

सखी भी है तू ......
रास्ता भी बनती तू
मेरी खुशी माँ.....

हौसला है तू.....
पूजनीय है तू माँ
मेरी प्यारी माँ.....

*************************************



33 comments:

  1. बढ़िया प्रस्तुति-
    आभार आदरणीया-
    नवरात्रि की शुभकामनायें-

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया रचना ।

    मेरी नई रचना :- सन्नाटा

    ReplyDelete
  3. माँ तो प्यारी होती ही है.....उन पर लिखी ये कविता भी प्यारी है...

    स्स्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  4. मां के बारे में जितना लिखों कम ही लगता है। वैसे आप बिल्कुल अपनी मां जैसी दिखती हैं... सुन्दर रचना के लिए बाधाई..

    ReplyDelete
  5. नमस्कार आपकी यह रचना कल मंगलवार (08-10-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    ReplyDelete
  6. इस पोस्ट की चर्चा, मंगलवार, दिनांक :-08/10/2013 को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}" चर्चा अंक -20 पर.
    आप भी पधारें, सादर ....राजीव कुमार झा

    ReplyDelete
  7. आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार ८ /१०/१३ को चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहां हार्दिक स्वागत है ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद राजेश जी...
      :-)

      Delete
  8. माँ इस धरती पर भगवान का प्रतिनिधित्व करती हैं ,माँ जैसा कोई नही |
    सुंदर भावाभिव्यक्ति |

    ReplyDelete
  9. भावो को खुबसूरत शब्द दिए है अपने...

    ReplyDelete
  10. बहुत भावपूर्ण रचना

    ReplyDelete
  11. जितनी प्यारी बिटिया, उतनी ही प्यारी उनकी माँ … बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  12. माँ से बढ़कर दूसरा कोई नही होता ,,,,भावपूर्ण रचना
    नवरात्रि की बहुत बहुत शुभकामनायें-

    RECENT POST : पाँच दोहे,

    ReplyDelete
  13. सुन्दर भावपूर्ण रचना के लिए बाधाई.

    ReplyDelete
  14. सुन्दर ,सरल और प्रभाबशाली रचना। बधाई।
    कभी यहाँ भी पधारें।
    सादर मदन

    http://saxenamadanmohan1969.blogspot.in/
    http://saxenamadanmohan.blogspot.in/

    ReplyDelete
  15. खुबसूरत शब्द

    ReplyDelete
  16. हाइकू के माध्यम से बहुत सुन्दर मात्री वंदना
    latest post: कुछ एह्सासें !

    ReplyDelete
  17. माँ का स्‍नेह शब्‍दों में मिठास बन कर उतर आया है ....

    ReplyDelete
  18. बहुत बढ़िया ...... माँ से बढ़कर कौन हो सकता है ....

    ReplyDelete
  19. माँ के बारे में ... उसकी महत्ता के बारे में जितना लिखा जाए कम है ... हर विधा में उनका गान किया जा सकता है ...

    ReplyDelete
  20. माँ की ममता से हमेशा माला-माल रहें ...
    शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  21. बढ़ि‍या प्रस्‍तुति

    ReplyDelete
  22. माँ की ममता की छांव हमेशा रहे यही कामना है ..
    बहुत सुन्दर ..

    ReplyDelete
  23. बढ़िया प्रस्तुति-माँ से बढ़कर कौन हो सकता है ....

    ReplyDelete
  24. खुबसूरत एहसास लिए मन को भिगोती रचना

    ReplyDelete
  25. माँ के प्रति समर्पित सुंदर हाइकु ।

    ReplyDelete
  26. bahut hi pasand aayi aapki rachna ...........navratri ki shubhkamnaye

    ReplyDelete
  27. ma par likhi ek sunder rachna

    shubhkamnayen

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...